Haal Kaisaa Hai Janaab Ka Lyrics by Asha Bhosle & Kishore Kumar | Chalti Ka Naam Gaadi

Haal Kaisa Hai Janab Ka Kishore Kumar, Asha Bhosle
हाल कैसा है जनाब का?
क्या खयाल है आपका?
तुम तो मचल गये, ओ ओ ओ
यूँ ही फ़िसल गये, आ आ आ
हाल कैसा है जनाब का?
क्या खयाल है आपका?
तुम तो मचल गये, ओ ओ ओ
यूँ ही फ़िसल गये, आ आ आ
बहकी!
बहकी!
चले है पवन, जो उड़े है तेरा आँचल
छोड़ो!
छोड़ो!
देखो देखो गोरे-गोरे काले-काले बादल
बहकी!
बहकी!
चले है पवन जो उड़े है तेरा आँचल
छोड़ो!
छोड़ो!
देखो देखो गोरे-गोरे काले-काले बादल
कभी कुछ कहती है, कभी कुछ कहती है
ज़रा नज़र को संभालना
आ आ आ आ
हाल कैसा है जनाब का?
हाय!
क्या खयाल है आपका?
हाय!
तुम तो मचल गये, ओ ओ ओ
यूँ ही फ़िसल गये, आ आ आ
पगली! (आं)
पगली! (ओ)
कभी तूने सोचा रस्ते में गये मिल क्यूं
पगले! (अँ)
पगले! (आँ)
तेरी बातों-बातों में धड़कता है दिल…
आ हा, पगली!
पगली!
कभी तूने सोचा रस्ते में गये मिल क्यूं
पगले!
पगले!
तेरी बातों-बातों में धड़कता है दिल क्यूं
कभी कुछ कहती है, कभी कुछ कहती है
ज़रा नज़र को संभालना
हा…
हाल कैसा है जनाब का?
हाय हाय!
क्या खयाल है आपका?
तुम तो मचल गये, ओ ओ ओ
यूँ ही फ़िसल गये, आ आ आ
कहो जी!
कहो जी!
रोज़ तेरे संग यूँ ही दिल बहलायें क्या
सुनो जी!
सुनो जी!
समझ सको तो खुद समझो बताएं क्या
कहो जी! (हाँ)
कहो जी! (ए हा)
रोज़ तेरे संग यूँ ही दिल बहलायें क्या
सुनो जी!
आ हा, सुनो जी!
समझ सको तो खुद समझो बताएं क्या
कभी कुछ कहती है, कभी कुछ कहती है
ज़रा नज़र को सम्भालना
हाय! हाल कैसा है जनाब का?
क्या खयाल है आपका?
तुम तो मचल गये, ओ ओ ओ
यूँ ही फ़िसल गये, आ आ आ
हाल कैसा है जनाब का?
क्या खयाल है आपका?
तुम तो मचल गये, ओ ओ ओ
यूँ ही फ़िसल गये, आ आ आ
हाल कैसा है जनाब का?
क्या खयाल है आपका?
तुम तो मचल गये, ओ ओ ओ
यूँ ही फ़िसल गये, आ आ आ
Source: Musixmatch
Songwriters: Majrooh Sultanpuri / S.d. Burman
Haal Kaisa Hai Janab Ka lyrics © Saregama Music United States, T-series, Plus Music

Haal Kaisaa Hai Janaab Ka Lyrics by Asha Bhosle & Kishore Kumar | Chalti Ka Naam Gaadi
(Haal kaisaa hai janaab kaa
Kyaa khayaal hai aap kaa
Tum to machal gaye ho ho ho
Yuunhii fisal gaye haa haa haa) – 2

(Bahakii bahakii chale hai pavan jo ude hai teraa aanchal
Chhodo chhodo dekho dekho gore gore kaale kaale baadal) – 2
Kabhii kuch kahatii hai kabhii kuchh kahatii hai
Zaraa nazar ko sanbhalana haal kaisaa hai janab kaa
Haay kyaa khayaal hai aap kaa
Hoy tum to machal gaye ho ho ho
Hmm hmm yuunhii fisal gaye haa haa haa

(Pagalii aa
Pagalii kabhii tuune sochaa raste men gaye mil kyon
Pagale han – 2 terii baaton baaton men dhadakataa hai dil kyon) – 2
Kabhii kuchh kahatii hai kabhii kuchh kahatii hai
Zaraa nazar ko sanbhaalanaa
Aa aa haal kaisaa hai janaab kaa
Haay kyaa khayaal hai aap kaa
Tum to machal gaye ho ho ho
Yuunhii fisal gaye haa haa haa

(Kaho ji kaho ji roj tere sang yuhi
Dil bahalaayen kyaa
Suno ji suno ji samajh sako to khud samajho
Bataaen kyaa) – 2
Kabhii kuch kahatii hai kabhii kuchh kahatii hai
Zaraa nazar ko sambhaalana
Haay haal kaisa hai janab kaa
Kyaa khayaal hai aap kaa
Tum to machal gaye ho ho ho
Yuhi fisal gaye haa haa haa
(Haal kaisaa hai janaab kaa kyaa khayaal hai aap kaa
Tum to machal gaye ho ho ho yuhi fisal gaye haa haa haa) – 2
Lyricists:
Movie: Chalti Ka Naam Gaadi
Music Director: S D Burman

Responses